शहीद की माली हालत: बंटाईदारी और विजय की नौकरी से चलती थी घरवालों की जिंदगी

1683_5

पाकिस्‍तानी सैनिकों के हमले में शहीद हुए विजय कुमार राय के परिजनों की आस टूट गई है। विजय के पूरे परिवार की जिंदगी बटाईदारी में दूसरों के खेत जोतकर और विजय की सैलरी के पैसों से चलती थी। शहीद विजय के दोनों भाई बेरोजगार हैं। बड़े भाई के चार बच्चे हैं। जो गांव में ही रहते हैं। 2002 में नौकरी में आने के बाद विजय के पैसों से 2006 में गांव में चार कमरों का छोटा का मकान बना। तंगहाली के कारण इसका निर्माण भी ठीक से नहीं हो सका है। घर वाले बताते हैं कि विजय ही उनका एकमात्र सहारा था। विजय के चले जाने से उनकी जिंदगी के सारे सपने बिखर गए।

Source: http://www.bhaskar.com/article/BIH-martyrs-children-want-to-take-revenge-to-pakistan-4345138-PHO.html

Filed in: Bihar News

You might like:

PM visits Santiniketan, attends Convocation of Visva Bharati University, inaugurates Bangladesh Bhavana PM visits Santiniketan, attends Convocation of Visva Bharati University, inaugurates Bangladesh Bhavana
राजनीति से प्रेरित है योग का विरोध : संजीव चतुव्रेदी राजनीति से प्रेरित है योग का विरोध : संजीव चतुव्रेदी
Jamalpur jazz: The forgotten story of a Filipino swing musician in 1930s Bihar Jamalpur jazz: The forgotten story of a Filipino swing musician in 1930s Bihar
Rape in India – Why it becomes a worldwide story Rape in India – Why it becomes a worldwide story

Leave a Reply

Submit Comment
*

© 2018 . All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by MBR.